shayari Archive

Online Love Shayari in Hindi – Faasla Itna Badhaane Ki Zarurat Kya Thi ?

फासला इतना बढ़ाने की ज़रूरत क्या थी ? तुझे मुझसे रूठ कर जाने की ज़रूरत क्या थी ? अब क्यों मुझसे बिछड़ के उदासी है तेरे चहरे पे ? अपना हाथ मेरे हाथो से छुड़ाने की ज़रूरत क्या थी ? दुनिया कब किसी के

Sad Shayari – Raat Bhar Hum To Sapne Sajaate Rahe

रात भर हम तो सपने सजाते रहे, लिख-लिख नाम तेरा मिटाते रहे ! शायद तेरा दीदार होगा आज सुबह, हर सुबह दर पे आँखें बिछाते रहे ! तेरी यादो का लेकर सहारा, मुश्किलो का एक घरोंदा बनाते रहे ! होगी नूर-ए-जशन महफ़िल हमारी भी,